Pages

Sunday, August 22, 2010

थोड़ा तो सब्र करो

कॉमन वेल्थ पर पिछले कुछ महीनो से मीडिया में ज़मकर किचकिच हो रहा है ..वजह भी है किचकिच की..लोगो को परेशानियां हो रही हैं...सडको पर लम्बे लम्बे ट्राफ्फिक जाम लग रहे हैं...सभी जगह गड्ढे खुदे हुए हैं..गाड़ियां फंस जाती हैं...ये परेशानियां हैं लोगों की..और सभी इसकी वजह सरकार को मानते हैं...क्यूंकि इस काम का ठीकरा उसी ने ले रखा है..पर अभी कुछ दिन पहले ही मेरे एक भैया विदेश से होकर आये आये और उन्होंने कहा की मैं जब वह पहुंचा तो एअरपोर्ट के कर्मचारी से लेकर होटल का मेनेजर तक मुझे फिलहाल इसी तरीके से जान पाया की मैं उस जगह से आया हूं जहाँ इस साल कॉमन वेल्थ होना है
तो भैया मैं बात सिर्फ इतनी ही कहना चाहता हूं क्या अगर आप सभी को इस नाम से या इस तरीके जाना जायेगा की आप उस सहर से आये हैं जहा कॉमन वेल्थ हो रहा है तो आपकी तौहीनी हो जाएगी क्या...नहीं न..तो थोडा सब्र करो..गांधीजी, नेहरु जी ने देश आज़ादी के लिए क्या क्या नहीं किया..आपकी सड़क गड्ढे में फंस जाती है तो मीडिया बुलाकर गाड़ी नंबर का प्रचार क्यूँ करते हो..जरा कभी अपने देश के बारे में भी तो सोचो..की हमें अगर जरा सी परेशानी हो भी रही है तो क्यूँ हो रही है..थोडा तो सब्र करने की माद्दा अपने अन्दर रखो..
आप सभी देश वासियों से गुजारिश है की सोच को सही और सकारात्मक दिशा की ओर ले जाने की जरुरत है

4 comments:

  1. अति सुन्दर अभिव्यक्ति
    ब्लाग जगत की दुनिया में आपका स्वागत है। आप बहुत ही अच्छा लिख रहे है। इसी तरह लिखते रहिए और अपने ब्लॉग को आसमान की उचाईयों तक पहुचाईये मेरी यही शुभकामनाएं है आपके साथ
    हमारे ब्लॉग पर आपका स्वागत है।
    मालीगांव
    साया
    आपकी पोस्ट यहा इस लिंक पर भी पर भी उपलब्ध है। देखने के लिए क्लिक करें
    लक्ष्य

    लक्ष्य अभी लोगो लगाये यहां से

    लक्ष्य एड ब्लाग यहां से

    ReplyDelete
  2. ब्‍लागजगत पर आपका स्‍वागत है ।

    किसी भी तरह की तकनीकिक जानकारी के लिये अंतरजाल ब्‍लाग के स्‍वामी अंकुर जी,
    हिन्‍दी टेक ब्‍लाग के मालिक नवीन जी और ई गुरू राजीव जी से संपर्क करें ।

    ब्‍लाग जगत पर संस्‍कृत की कक्ष्‍या चल रही है ।

    आप भी सादर आमंत्रित हैं,
    http://sanskrit-jeevan.blogspot.com/ पर आकर हमारा मार्गदर्शन करें व अपने
    सुझाव दें, और अगर हमारा प्रयास पसंद आये तो हमारे फालोअर बनकर संस्‍कृत के
    प्रसार में अपना योगदान दें ।
    यदि आप संस्‍कृत में लिख सकते हैं तो आपको इस ब्‍लाग पर लेखन के लिये आमन्त्रित किया जा रहा है ।

    हमें ईमेल से संपर्क करें pandey.aaanand@gmail.com पर अपना नाम व पूरा परिचय)

    धन्‍यवाद

    ReplyDelete
  3. इस नए सुंदर से चिट्ठे के साथ आपका हिंदी ब्‍लॉग जगत में स्‍वागत है .. नियमित लेखन के लिए शुभकामनाएं !!

    ReplyDelete

bahut bahut dhanyawaad...swagat hai aapka comment karne ke liye